ऊँट पर निबंध – Essay on Camel in Hindi (300 & 500 Words)

ऊँट पर बहुत सुन्दर और प्यारा निबंध । इस से अच्छा ऊँट पर निबंध आपको कही नहीं मिलेंगे। Essay on Camel in Hindi (Simple and Attractive). आज हम ऊँट पर एक प्यारा और आकर्षक निबंध लिखेंगे। हम उम्मीद करते है की ऊँट पर निबंध आपको पसंद आये। 

ऊँट पर निबंध – Essay on Camel in Hindi

परिचय : ऊँट एक भद्दा सा जानवर है। इसके चार लंबी-लंबी टांगे, एक लंबी गर्दन, दो छोटे-छोटे कान और एक छोटी सी पूँछ होती है। इसका पीठ पर उभरा मांस होता है जिसे कूबड़ कहते हैं। उसके पैरों के नीचे गद्दी होती है इससे ऊँट रेत में आसानी से चल सकता है। 

प्राप्ति-स्थान : ऊँट मरुभूमि का पशु है। यह अधिकतर एशिया और अफ्रीका महादेश के मरुस्थल में पाया जाता है। 

भोजन : इसका प्रिय भोजन घास, पत्ते और कांटेदार झाड़ियां होती है। इसे खजूर बहुत अच्छी लगती है। ऊँट एक बार में बहुत अधिक भोजन करता है जिससे इसका पीठ पर कूबड़ बन जाता है। 

उपयोगिता : ऊँट बहुत लाभदायक पशु है। यह सवारी ढोने और बुझा ढोने के काम आता है। यह हल जोतने, राहट चलाने और गाड़ी खींचने के भी काम आते हैं। यह बिना दाना पानी के कई दिनों तक रह सकता है। यह एक बार में इतनी पानी पी लेता है जो कई दिनों के लिए काफी होता है। इसलिए रेगिस्तान की यात्रा में यह सबसे अच्छा सवारी है। यह 1 दिन में 100 किलोमीटर से 120 किलोमीटर तक चल सकता है। यह रेत में बहुत अच्छी तरह चलता है इसलिए इसे रेगिस्तान का जहाज कहते हैं। 

उपसंहार : अरब देश के लोग अपना व्यापार ऊँट की सहायता से ही करते हैं। वे लोग ऊँट का मांस खाते तथा ऊंटनी का दूध पीते हैं। वे इसके बाल से कपड़ा भी बनाते हैं। ऊंट की हड्डियों से चाकू के दस्ते और होल्डर बनाए जाते हैं। उसकी खाल से कुप्पे और तराजू के पलड़े बनते हैं। 

Also Read –

Leave a Comment