मधुमक्खी पर निबंध – Essay on Honey-Bee in Hindi (300 & 500 Words)

मधुमक्खी पर निबंध – Essay on Honey-Bee in Hindi
मधुमक्खी पर निबंध – Essay on Honey-Bee in Hindi

मधुमक्खी पर बहुत सुन्दर और प्यारा निबंध । इस से अच्छा मधुमक्खी पर निबंध आपको कही नहीं मिलेंगे। Essay on Honey-Bee in Hindi (Simple and Attractive). आज हम मधुमक्खी पर एक प्यारा और आकर्षक निबंध लिखेंगे। हम उम्मीद करते है की तोता पर निबंध आपको पसंद आये।

मधुमक्खी पर निबंध – Essay on Honey-Bee in Hindi

परिचय : मधुमक्खी कीट-जाति की अंडर जीव है। यह मक्खी से बड़ी होती है। मधुमक्खी के पेट के अगले हिस्से में डंक होता है। इसके चार पंख और 6 पैर होते हैं। उसके दांत नहीं होती है। इसे सूंड़ होती है जिसकी सहायता से यह फूलों के रस को मजे से चूस कर शहद इकट्ठा किया करती है। 

प्राप्ति-स्थान : प्राय: मधुमक्खी जंगलों में पाई जाती है। यह कभी-कभी शहर और गांव में भी दिखाई पड़ती है। यह दीवारों के छेद में और पेड़ों की डालियां पर छत्ते बनाकर एक साथ रहती है। एक छत्ते में इनकी संख्या पराया लाखों में होती है। 

भोजन : मधुमक्खी का भोजन फूलों का रस और शहद है। 

स्वभाव : चींटी की तरह यह परिश्रमी होती है। यह दुष्ट प्रकृति की नहीं होती लेकिन जब यह क्रोधित हो जाती है तो छेड़छाड़ करने वालों को खदेड़ कर डंक मारती है। इसके डंक में जहर होता है। यह मधु की खोज में इधर-उधर उड़ा करती है। मधुमक्खी की तीन श्रेणियां है – नर, रानी और मजदूर। रानी मधुमक्खी मधु कट्ठा करती है। मजदूर मधुमक्खी का छत्ता बनाने का कार्य करती है। मनुष्य की तरह मधुमक्खी को भी दिशा का सटीक ज्ञान होता है। यह अपने जानकारियां को संकेतों के माध्यम से एक दूसरे को देती रहती है। 

उपयोगिता : मधुमक्खी आर्थिक दृष्टि से बहुत लाभदायक कीट है। यह हमें शहद और मॉम देती है। मधुमक्खी के छत्ते से बड़े ही सावधानी से शहद इकट्ठा किया जाता है। शहद के लिए मनुष्य मधुमक्खी का बड़े पैमाने पर पालन करती है। शहद का प्रयोग दवा के रूप में होता है एवं मोम से मोमबत्ती बनती है। 

Also Read –