जन्माष्टमी पर निबंध (300 & 500 words) – Essay on Janmashtami in Hindi

जन्माष्टमी पर बहुत सुन्दर और प्यारा निबंध । इस से अच्छा जन्माष्टमी पर निबंध आपको कही नहीं मिलेंगे। Essay on Janmashtami in Hindi (Simple and Attractive). आज हम जन्माष्टमी पर एक प्यारा और आकर्षक निबंध लिखेंगे। हम उम्मीद करते है की जन्माष्टमी पर निबंध आपको पसंद आये।

जन्माष्टमी पर निबंध – Essay on Janmashtami in Hindi

परिचय : जन्माष्टमी हिंदुओं का मुख्य पर्व है। यह पर्व भादो महीना के कृष्णपक्ष की अष्टमी को प्रतिवर्ष मनाया जाता है। 

वर्णन : पाँच हजार वर्ष पहले इसी दिन भगवान कृष्ण ने मथुरा में कंस के कारावास में जन्म लिया था। इनके पिता का नाम वासुदेव तथा माता का नाम देवकी था। बालक कृष्ण का लालन-पालन नंद बाबा के घर में बड़े ही लाड़ प्यार के साथ हुआ था। भगवान कृष्ण बचपन में बड़े ही शरारती थे। 

जन्माष्टमी के दिन सभी मंदिर को सजाए जाते हैं। कीर्तन का कार्यक्रम जगह-जगह आयोजित किया जाता है। मंदिर में श्री कृष्ण की झांकी देखने के लिए नर-नारी तथा बच्चों का भीड़ लगी रहती है। लोग इस दिन उपवास रहते हैं। आधी रात को जिस समय भगवान श्री कृष्ण का जन्म हुआ उस समय मंदिर में पूजा और आरती की जाती है। प्रसाद तथा चरणामृत लेकर लोग अपने-अपने घरों को जाते हैं। इस दिन श्रीमद् भागवत का पाठ किया जाता है। इसमें श्रीकृष्ण की लीलाओं का वर्णन है। 

उपसंहार : जन्माष्टमी के दिन शिक्षण संस्थान बंद रहते हैं। यह पर्व बड़े उत्साह के साथ धूमधाम से मनाया जाता है। 

Also Read :-

 

Leave a Comment