Insurance: बीमा क्या है? यह कितने प्रकार के होते है?

बीमा ( Insurance) भविष्य में होने वाले नुकसान की भरपाई करने की कोशिस करता है। बीम दो लोगो के बीच होने वाले अनुबंध(contract) है जिसमें बीमाकर्ता बीमाकृत से एक निश्चित रकम (premium) के बदले किसी निश्चित घटना के घटित होने पर बीमाकर्ता को एक निश्चित रकम(money) देता है। बीमा ( Insurance) हमारे भविष्य  में होने वाली जोखिमों से होने वाली वास्तविक हानि को कम करता है। बीमा पोलेसी हमारे जीवन के कुछ आर्थिक संकटो से बचता है जिससे हमे बुहत से आर्थिक नुकसान नहीं होते  है।


बीमा कितने प्रकार(Types of Insurance) के होते है ?

बीमा (Insurance) तीन प्रकार के होते है:

जीवन बीमा (Life Insurance)

साधारण बीमा (General Insurance)

सामाजिक बीमा(social insurance)

जीवन बीमा (Life Insurance) 

जीवन बीमा (Life Insurance) :जीवन बीमा ( Life Insurance) किसी इनसान की जिंदगी (Life) का बीमा(Insurance) किया जाता है।

pexels-rodnae-productions-7821913 (2)

जिसमे बीमाकर्ता (Insurer) बीमाकृत (Insured) से एक निश्चित रकम (premium) के बदले बीमा पॉलिसी (Insurance policy) खरीदने वाले व्यक्ति के साथ  दुर्घट्ना या मृत्यु (accident and death)  होने पर उसके मुख्य परिवार के व्यक्ति की पत्नी/बच्चे/माता-पिता आदि को बीमा कंपनी की तरफ से  किये गए बीमा मुआवजा मिलता है। जिससे बीमाकर्ता (Insurer) के परिवार को कुछ आर्थिक सहयता मिलता जाता है जिससे वो अपने परिवार का जिवन बीमाकर्ता के मृत्यु के बाद भी अच्छे से चल सके  इस लिए जीवन बीमा ( Life Insurance) बीमाकर्ता (Insurer) के जीवन के बाद भी उसके परिवार का सहायता करता है।

साधारण बीमा (General Insurance)

साधारण बीमा (General Insurance) : साधारण बीमा (General Insurance) जिसमे बीमाकर्ता (Insurer)  बीमाकृत (Insured) से एक निश्चित रकम (premium) के बदले बीमा पॉलिसी (Insurance policy) खरीदते  है ये बीमा मकान  का बीमा ( Home Insurance) ,दुकान का बीमा  , वाहन बीमा ( Motor Insurance) ,स्वास्थ्य बीमा ( Health Insurance), यात्रा बीमा ( Travel Insurance), फसल बीमा ( Crop Insurance), कारोबार उत्तरदायित्व बीमा (Business Liability Insurance) आदि की होती है General Insurance आपके किसी दुर्घटना से होने वाला नुकसान के खतरे को कम करता है।

मकान  का बीमा ( Home Insurance) : मकान  का बीमा में हमे घर के सुरच्छा के लिए ये बीमा करवाते है जिसमे बीमाकर्ता (Insurer) के घर या मकान में कोई दुर्घटना या आग लगने से जो नुकसान होता है।  वो नुकसान की भरपाइ  बीना कंपनी वाले करते है जिस से मकान की सुरच्छा हो सके जिस के कारण घर में अगर कोई दुर्घट्ना हो तो उसे बीमाकर्ता को उसके किये गये बीमा रकम मील सके जिस से वो अपने घर को ठीक करवा सके. मकान  का बीमा ( Home Insurance) हमरे घर मकान में दुर्घट्ना से होने वाला नुकसानों से बचाता हैं।

वाहन बीमा ( Motor Car Insurance) : वाहन बीमा में Car और वाहन का बीमा करवाया जाता है। इस बीमा में वाहन केआर्थिक नुकसान होने से बचाता है। Car या  वाहन का दुर्घट्ना (accident) होने पर जो नुकसान वाहन को होता है वो नुकसम का भरपाई बीमा कंपनी वाले करते है। जिसमे बीमाकर्ता (Insurer)  बीमाकृत (Insured) से एक निश्चित  रकम (premium) के बदले बीमा पॉलिसी (Insurance policy) खरीदने वाले व्यक्ति के Car और वाहन के दुर्घट्ना से होने वाले नुकसान से बचाता हैं।

स्वास्थ्य बीमा ( Health Insurance) : स्वास्थ्य में जो आजकल इलाज में  खर्च बहुत ज्यादा बढ़ रहा है। स्वास्थ्य बीमा ( Health Insurance) लेने पर बीमाकर्ता को कोई भी बीमारी होने पर बीमा कंपनी इलाज का खर्च करती है। स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी (Insurance policy) के तरफ से बीमाकर्ता को इंश्योरेंस कंपनी किसी भी तरह की बीमारी होने पर उस का इलाज पर खर्च होने वाली रकम देती है। किसी बीमारी पर होने वाले खर्च की सीमा बीमाकर्ता (Insurer) के स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी पर निर्भर करती है। स्वास्थ्य बीमा ( Health Insurance) में बीमाकर्ता को जो बीमारियों में खर्च होता  है वो सब ख़र्च बीमा कंपनी वाले अपनी Insurance policy के तहत करते हैं।

pexels-karolina-grabowska-4021810

स्वास्थ्य बीमा के फायदे ( Benefits of Health Insurance) : लगातार बढ़ते मेडिकल खर्च के इस दौर में स्वास्थ्य बीमा ( Health Insurance) जल्द से जल्द ले लेने में ही समझदारी हैं। स्वास्थ्य बीमा ( Health Insurance) के निम्लिखित फायदे है।

  • स्वास्थ्य बीमा योजना में वृद्ध माता-पिता के साथ-साथ बच्चे भी सबसे अच्छा चिकित्सा उपचा कराया जाता।
  • अचानक पैदा हुईं स्वास्थ्य स्थितियां आपकी बचत को खत्म कर सकती हैं. एक उपयुक्त स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी(Insurance policy) खरीदकर आप अपने चिकित्सा खर्चों का बेहतर प्रबंधन कर सकते हैं. अपनी इच्छित योजनाओं के लिए इन बचत का उपयोग कही और कर सकते है जैसे की आप अपने बच्चो को अच्छे विध्याल में पढ़ा सकते है, या आप इसे अपने रिटयरमेंट के लिए बचा सकते है।
  • स्वास्थ्य बीमा कंपनी आपकी  गंभीर बीमारियों के ख़र्च  को काम कर देती है जिससे आपको ज्यादा परेशानी नहीं होती।

यात्रा बीमा ( Travel Insurance) : यात्रा बीमा ( Travel Insurance) बीमाकर्ता (Insurer) के किसी यात्रा के दौरान होने वाले नुकसान से बचाती  है। अगर कोई बीमाकर्ता (Insurer) किसी काम से या घूमने के लिए विदेश की यत्रा करता हैं और उसे शरीर पे चोट लग जाती है या उसका समान गुम हो जाता है या चोरी हो जाता है तो बीमा कंपनी बीमाकर्ता मुआवजा देती है।  यात्रा बीमा पॉलिसी ( Travel Insurance policy) बीमाकर्ता (Insurer) के यात्रा शुरू होने से लेकर यात्रा खत्म होने तक ही उस के यात्रा में कोई संकट हो तो वो बिमा कंपनी वाले ले लेते है।  यात्रा बीमा पॉलिसी के लिए अलग-अलग बीमा कंपनियों (Insurance policy) की शर्त अलग-अलग होती  है।

फसल बीमा ( Crop Insurance) : फसल बीमा में किसानो को उनके फसलों का नुकसान का भरपाई फसल बीमा के तहत होता है।  कृषि लोन(Loan) लेने वाले हर किसान को फसल बीमा खरीदना जरूरी है।  फसल बीमा पॉलिसी के तहत फसल को किसी भी तरह का नुकसान या फसल में ,आग लगने पे, या  नदी में बढ़ आने पे जो फसल में होने वाला नुकसान बीमा कंपनी किसान को उसका मुआवजा देती है। फसल बीमा पॉलिसी( Crop Insurance policy) किसान को उसके फसल में होने वाले सरे नुकसान को बीमा के तहत मुआबजा देती है। जिससे किसानो को उनके फसलों में हुआ नुकसान नहीं झेलना पड़ता है जिसे किसानोंको अपने फसल का सही पॉलिसी मिलता हैं।

कारोबार उत्तरदायित्व बीमा (Business Liability Insurance) : कारोबारी बीमा में बिज़नेस या कंपनी में होने वाले आर्थिक नुकसान से बचता है। जिसमे बीमाकर्ता (Insurer) बीमाकृत (Insured) से एक निश्चित  रकम (premium) के बदले बीमा पॉलिसी (Insurance policy) खरीदने वाले व्यक्ति को उस के कम्पनी में आग ये कोई नुकसान होता  है तो वो नुकसान बीमा पालिसी उस के नुकसान की भरपाई करता हैं। जिससे बिज़नेस में रिस्क काम हो जाता है जिस से बीमाकर्ता को नुकसान होने का खतरा काम होता है।

सामाजिक बीमा(social insurance)

सामाजिक बीमा(social insurance) : सामाजिक बीमा(social insurance) समाज और समाज के लोगो के लिए करवाया जाता है जिसमे समाज सुधार और समाज के लोग की स्वास्थ्य सुधार करने में मद्द्त करता  है। social insurance समाजिक कार्यो में सुधर और समाज में आज भी बहुत सी ऐसी समस्याएं हैं जिसका सुधार सामाजिक बीमा करता है।

बीमा के फायदे ( Benefits of Insurance)

Insurance का एक खास उद्देश्य जिसमे बीमाकर्ता के असमय मौत से उसके परिवार को आर्थिक सुरक्षा प्रदान करतआता है और समाजिक सुधर में भी मद्द्त करता है।  भारत में अब भी Life Insurance बीमाकर्ता के जीवन का बीमा होता है General Insurance में साधारन insurance policy जैसे की मकान  का बीमा ( Home Insurance) , वाहन बीमा ( Motor Insurance) ,स्वास्थ्य बीमा ( Health Insurance), यात्रा बीमा ( Travel Insurance), फसल बीमा ( Crop Insurance), कारोबार उत्तरदायित्व बीमा (Business Liability Insurance) आदि करवया जता है। social insurance में समाजिक कार्यो के लिए जैसे की समाज सुधार और समाज के लोग की स्वास्थ्य सुधार में करवाया जाता है। बीमा के अनेक फायदे है जैसे की नीचे दिया गया है :-

  • सुरक्षा : जीवन अनिश्चित मृत्यु जैसी दुर्भाग्यपूर्ण घटना की संभावना हमेसा बना रहता है जिसको कम कर पाना मुश्किल है। ऐसी स्थितियों में Insurance  हमारे परिवार को आर्थिक परेशानी से बचाता है लाइफ इंश्योरेंस पॉलिसी में निवेश करना ऐसी संभावित घटना की स्थिति में सुरक्षा कवच के तौर पर काम करता है।
  • स्वास्थ्य बीमा आपके गंभीर बीमारियों के ख़र्च  को काम कर देती है जिससे आपको ज्यादा परेशानी नहीं होती।
  • कारोबार उत्तरदायित्व बीमा में बिज़नेस या कंपनी में होने वाले आर्थिक नुकसान से बचता है। कम्पनी में आग ये कोई नुकसान होता  है तो वो नुकसान बीमा पालिसी भरपाई करता हैं। जिससे बिज़नेस में रिस्क काम हो जाता है जिस से बीमाकर्ता को नुकसान होने कइ खतरे को काम होता है।
  • Home Insurance में घर या मकान में कोई दुर्घटना या आग लगने से जो नुकसान होता है।वो नुकसान की भरपाइ  बीना कंपनी वाले करते है मकान  का बीमा ( Home Insurance) हमरे घर मकान में दुर्घट्ना से होने वाला आर्थिक नुकसानों से बचाता हैं।

Insurance आपके और आपके परिवार की सहयता करता है आप सभीको कोई ना कोई Insurance Policy खरीदना जरूरी है। 

Leave a Comment